CrimeMadhya Pradesh

नशीली दवा तस्कर गिरोह क्राइम ब्रांच की पकड़ में

इन्दौर- 12 अप्रैल 2019- वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक श्रीमति रूचिवर्धन मिश्र इन्दौर (शहर) व्दारा शहर में अवैध मादक पदार्थों जैसे- बी काम, एनआर एक्स, अल्प्राजोलम, नाईट्रावेट आदि प्रतिबंधित दवाओं की तस्करी व खरीदी-ब्रिकी करने वाले आरोपियों की पतारसी कर उनकी धरपकड़ किये जाने हेतु इन्दौर पुलिस को निर्देशित किया गया है। उक्त निर्देशों के तारतम्य में पुलिस अधीक्षक (मुखयालय) इंदौर श्री अवधेश कुमार गोस्वामी के निर्देशन में क्राईम ब्रांच की टीम प्रभारियों को इस दिशा में प्रभावी कार्यवाही करने हेतु समुचित दिशा निर्देश दिये गये।

प्रायः यह देखने में आया है कि इंदौर तथा इसके आस पास के अन्य सीमावर्ती जिलों के तस्करों द्वारा विभिन्न शहरों भोपाल, जबलपुर, आगरा, ग्वालियर, आदि जगहों से खरीदकर, इंदौर में अवैध मादक पदार्थों जैसे- बी काम, एनआर एक्स, अल्प्राजोलम, नाईट्रावेट इत्यादि प्रतिबंधित दवाओं की तस्करी की जा रही है जिससे कि आपराधिक तत्वों द्वारा नशो की लत को पूरा करने के लिये नशीली दवाओं का सेवन किया जाता है बाद नशो में तल्लीन ऐसे आपराधिक प्रवृत्ति के लोगों द्वारा कई बार जघन्य तथा गंभीर श्रेणी की वारदातों को अंजाम दिया जाता है जिससे शांति एवं कानून व्यवस्था की स्थिति भंग होती है।
इसी अनुक्रम में क्राईम ब्रांच इंदौर की टीम द्वारा प्रतिबंधित नशीली दवाओं की खरीद/फरोखत करने वाले लोगों की धरपकड़ हेतु मुखबिर तंत्र सक्रिय किया गया जिसके परिपेक्ष्य में टीम को सूचना मिली थी कि इंदौर के स्थानीय निवासी तस्करों द्वारा जबलपुर व भोपाल शहरों से बड़ी मात्रा में प्रतिबंधित दवा अल्प्राजोलम खरीदकर इंदौर के ही आपराधिक तत्वों को सप्लाय की जा रही है, बाद पुलिस टीम द्वारा ऐसे तस्करों के बारे में सूचना संकलित कर उन पर निगरानी रखना शुरू की गई।
बाद मुखबिर तंत्र के माध्यम से क्राईम ब्रांच की टीम को सूचना मिली थी कि 01 व्यक्ति थाना रावजी बाजार क्षेत्रांतर्गत आपराधिक किस्म के लोगों को अल्प्राजोलम टेबलेट बेचने के लिये घूम रहा है। सूचना पर क्राईम ब्रांच की टीम ने थाना रावजी बाजार पुलिस के साथ संयुक्त कार्यवाही करते हुये से 01 संदेही व्यक्ति को पकड़ा जिसने अपना नाम 1. बसंत मेहरा उर्फ सलीम शेख पिता संजय मेहरा निवासी जीनत मस्जिद के पीछे, रावजीबाजार इंदौर का होना बताया। आरोपी की मौके पर संदेह के आधार पर तलाशी लेने पर उसके कब्जे से अल्प्राजोलम की 1100 टेबलेट बरामद हुई जिसके संबंध में लायसेंस तलब करने पर आरोपी ने उपरोक्त प्रतिबंधित टैबलेट, अवैध रूप से स्वयं के पास रखना स्वीकार किया जिसके परिपेक्ष्य में आरोपी को थाना रावजी बाजार में अपराध क्रमांक 315/19 धारा 8/22 एनडीपीएस एक्ट के तहत गिरफ्तार किया गया है। आरोपी ने प्रारंभिक पूछताछ में बताया कि वह इन नशीली दवाओं को बाहार शहरों से खरीदकर मंहगे दामों में इंदौर के लोगों को बेचता था।
आरोपी बंसत मेहरा ने बताया कि वहबाहरी शहरों से गत 05 माह से लगातार उपरोक्त प्रतिबंधित दवायें खरीदकर इंदौर में सप्लाय कर रहा था। आरोपी सस्तें दामों में दवा खरीदकर इंदौर में आपराधिक किस्म के लोगों को 05 गुना अधिक कीमत में बेचा करता था। आरोपी बसंत 10 वीं तक पढ़ा लिखा है तथा सवारी ऑटो चलाने का काम करता है।
आरोपी बसंत मेहरा ने पूछताछ में बताया कि उसने अपने साथी रियाज पिता कयुम खान नि. 59/11 परदेशीपुरा इंदौर को भी थोक मात्रा में प्रतिबंधित दवायें अल्प्राजोलम बेची है जोकि परदेशीपुरा क्षेत्र के बदमाशों को उपरोक्त टैबलेट बेचकर मोटी रकम कमाता है। बाद क्राईम ब्रांच की टीम ने थाना परदेशीपुरा पुलिस के साथ संयुक्त कार्यवाही करते हुये रियाज पिता कयुम खान नि. 59/11 परदेशीपुरा इंदौर को पकड़ा गया जिसके कब्जे से भी 1100 टेबलेट, प्रतिबंधित दवा अल्प्राजोलम की बरामद हुई हैं। आरोपी पर थाना परदेशीपुरा में अपराध क्र 315/19 धारा 08/22 एनडीपीएस एक्ट के तहत वैधानिक कार्यवाही की गई है। आरोपी रियाज खान लोडिंग वाहन चलाता है तथा आपराधिक किस्म के लोगों को नशीली दवाओं की सप्लाय भी करता था। आरोपी कक्षा 11 वीं तक पढ़ाहै जोकि स्वयं भी नशा करने का आदी है।
आरोपियों किन किन लोगों को प्रतिबंधित दवाये बेचते थे इस संबंध में पूछताछ करने पर कुछ संदेहियों के नाम सामने आये हैं जिनके पूरे नेटवर्क का पता लगाया जा रहा है शीघ्र ही अन्य संलिप्त आरोपियों के पुलिस गिरफ्त में आने की संभावना है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close