अव्यवस्थाओ से झुझते इंदौर के महाराजा यशवंत राव होलकर (एम् वाय एच ) अस्पताल पर छुटभय्या का दबदबा।परेशान होते कर्मचारी व् मरीज

इंदौर के एमवाय हॉस्पिटल में नेताओं का बोलबाला है और ऐसा नजारा इंदौर के एमवाय हॉस्पिटल में रोजना नजर आता है ऐसा ही एक नजारा सामने आया रविवार को जब मरीजों के परिजन अपने अपने नेताओं से ड्यूटी पर लगे गार्डों की बात करवाने में मशगूल थे लेकिन जब मीडिया के कैमरे खुले तो जो छूट भैया नेता अपने नेताओं या अपने आकाओं के फोन लगाकर गार्डो से एमवाय हॉस्पिटल के अंदर आने की जुगाड़ कर रहे थे वही मीडिया के सामने गार्डों के पैर छूते नजर आए ।

जो नजारा आप अपने टीवी स्क्रीन पर देख रहे हो, वह नजारा है इंदौर के एमवाय हॉस्पिटल का इंदौर एमवाय हॉस्पिटल में रविवार होने के कारण कई मरीजों के परिजन मिलने आए हुए थे मरीजों के परिजनों की लंबी लंबी कतारें एमवाय के मुख्य द्वार पर लगी हुई थी उन्ही लाइनों में से एक व्यक्ति बाहर निकल कर आया और गार्डो पर रोक झाड़ते हुए मंत्री जीतू पटवारी की धमकी देते हुए अंदर आने का प्रयास करने लगा इसी दौरान वहां पर मीडिया कर्मी पहुंच गए और पूरा वाकया कैमरा में कैद करने लगे खुद को मीडिया के कैमरे में कैद होता देख छोटे भैया नेता जो अपने आप को जीतू पटवारी का खास होना बता रहा था थोड़ी देर बाद मीडिया के कैमरे के सामने गार्डों के पैर छूता नजर आया । पहला मामला शांत ही नहीं हुआ था की भीड़ में से निकल कर एक दूसरा व्यक्ति वहां पर आता है और वह अपने आप को स्वास्थ्य मंत्री तुलसी सिलावट का नौकर बताते हुए फोन पर बात करवाने लगता है स्वास्थ्य मंत्री का नाम आते ही वहां पर तैनात गार्ड हक्के बक्के हो जाते हैं लेकिन मीडिया के सामने वह भी फोन पर बात करते हुए संबंधित व्यक्ति से बात करते हैं संबंधित व्यक्ति कौन था यह तो गार्ड को नहीं मालूम लेकिन जो भी व्यक्ति फोन पर बात कर रहा था उसने बताया कि जो व्यक्ति एमवाय हॉस्पिटल के अंदर आने की कोशिश कर रहा है वह मंत्री तुलसी सिलावट का नौकर है और उसे अंदर जाने दिया जाए ।

जब इस पूरे मामले पर एमवाय हॉस्पिटल के गार्डों से बात की तो उनका कहना था कि दिन भर में कई बार इस तरह के मामलों से सामना करना पड़ता है कई बार तो संबंधित व्यक्ति फोन पर ही अपशब्द भी कर देते हैं लेकिन मजबूरन हमें सुनकर संबंधित मरीज के व्यक्ति को सुविधाएं उपलब्ध करवानी पड़ती है। एमवाय हॉस्पिटल में मेल गार्डो के साथ फीमेल गार्ड भी तैनात है और उन महिला गार्डो को भी इन छुटभैया नेताओ की बत्तमीजी का सामना करना पड़ता है।

नैना सिंह , महिला गार्ड
– पूजा ठाकुर , महिला गार्ड

वीओ – वही जो व्यक्ति खुद को मंत्री तुलसी सिलावट का नौकर बता कर फोन पर बात करवा रहा था उससे जब बात की गई तो उसका कहना था कि एमवाय हॉस्पिटल में काफी समस्या है और वह अपनी पत्नी का इलाज करवाने के लिए आया हुआ है लेकिन एमवाय हॉस्पिटल पर तैनात गार्ड उसे अंदर नहीं जाने दे रहे हैं पहले लाइन में लग कर अंदर जाने का भी प्रयास किया लेकिन गार्डों ने एमवाय परिसर के अंदर भी नहीं घुसने दिया जिसके बाद उसने मंत्री तुलसी सिलावट का नौकर होना बताते हुए फोन पर बात करवा दी ।

– सेवा राम , मरिज का परिजन यह तो दो घटनाए है ऐसे कई नजारे एमवाय हॉस्पिटल में दिन भर में सामने आते हैं जब कोई छूट भैया नेता अपने आप को विधायक या मंत्री का खास बताते हुए एमवाय हॉस्पिटल के डॉक्टरों एवं कर्मचारियों पर रोक झाड़ता है मजबूरन कर्मचारियों को एमवाय हॉस्पिटल के नियम कायदों को दरकिनार करते हुए उन्हें वह सारी सुविधाएं देनी पड़ती है फिलहाल अब देखना होगा एमवाय हॉस्पिटल इन छुटभैया नेताओ पर लगाम कैसे लगाएगा

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close