लोकसभा चुनाव २०१९ बीजेपी सत्ता सुख छोड़ लम्बे वनवास की और तेजी से बढ़ते हुए। मुरझा गया कमल

कांग्रेस केंद्र में सत्ता की कुर्सी के करीब तेजी से बढ़ती हुई दिख रही है। बीजेपी ने जिसे पप्पू बोल प्रचारित किया खूब बेज्जत किया। उसे जनता का मिल रहा आपार स्नेह। आज कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष माननीय सांसद राहुल गांधी के सामने पूरी बीजेपी पप्पू नजर आ रही है 3 राज्यो में कांग्रेस को सत्ता की कुर्सी पर बैठाने के बाद अपने चुनावी वचन पत्र को पूरा करने अपने निर्णयों से जनता व किसानों के दिलो दिमाग पर छा गयी है कांग्रेस । पुलिस विभाग लगातार बड़े मामलो में कार्यवाही कर अपराधियो को सलाखों के पीछे डाल रहा है। सरकार बदलते ही जनता को भी बदलाव नजर आ रहा है। युवा बेरोजगार,किसानों,महिलाओ में सरकार के प्रति विस्वास बढ़ रहा है। युवा नेतृत्व के साथ उत्साह से भरी कांग्रेस में प्रियंका गाँधी का राष्ट्रीय महासचिव पद के साथ प्रवेश,ज्योतिरादित्य सिंधिया का साथ उत्तर प्रदेश में कांग्रेस को बड़ी बढ़त का संकेत दे रहा है। 15 साल से मध्यप्रदेश में सत्ता से दूर 5 साल केंद्रीय सत्ता से दूर कांग्रेस में ऊर्जा का संचार भरने में राहुल गाँधी सफल होते दिख रहे है। वही कांग्रेस मुक्त भारत का अहंकारपूर्ण नारा देने वाले बीजेपी के केंद्रीय नेतृत्व प्रदेश नेतृत्व में बिखराव नजर आ रहा है।रोज बीजेपी के बड़े कद्दावर नेता बीजेपी छोड़ कांग्रेस में शामिल हो रहे है। जनता में भी 2014 वाला जोश कही दिखाई नही दे रहा। जनता के साथ प्रदेश संघटन व केंद्रीय संघटन के कई नेता केंद्रीय नेतृत्व के मनमाने निर्णयों से नाराज है। बीजीपी बिखरती जा रही है। लोकसभा चुनाव हार के मुहाने पर खड़ी बीजेपी अगर 2019 लोकसभा चुनाव हार जाती है तो बीजेपी के लिए सत्ता में आने के रास्ते कई वर्षों के लिए बंद हो जाएंगे। जनता देख रही है कैसे कांग्रेस अपने वरिष्ठ नेताओं के साथ बीजेपी के वरिष्ठ नेताओं का भी सम्मान करते हुए युवा नेतृत्व को आगे ला रही है वही बीजेपी के लिए वरिष्ठ नेता उपयोग कर फेकने की वस्तु बन चुके है। युवा नेतृत्व मुह तक रहा है। सत्ता की विलासिता खोये बीजेपी नेतृत्व को जड़ से खत्म होती बीजेपी की नीति रीति नजर नही आ रही। बीजेपी के सुनहरे काल का अंत करीब आता नजर आ रहा है। जनता उच्च शिक्षित युवा नेतृत्व से भरी देश चलाने के अनुभव का लंबा इतिहास लिए कांग्रेस को देश की सत्ता सोपने उत्साही नजर आ रही है। अशोक रघुवंशी भारतीय न्यूज़ इंदौर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close