National News

कोर्ट ने कहा : राजीव कुमार CBI के समक्ष पेश हों – ममता बता रहीं इसे अपनी जीत

शीर्ष अदालत ने कोलकाता के पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार की गिरफ्तारी सहित उनके खिलाफ कड़े कदम उठाने से सीबीआई को रोक दिया हालांकि कोर्ट ने इस मामले में पश्चिम बंगाल सरकार को नोटिस जारी करते हुए राजीव कुमार को सीबीआई के समक्ष पेश होने और उन्हें जांच में सहयोग करने के लिए कहा है।

कोलकाता में धरने पर बैठीं ममता ने कोर्ट के फैसले को अपनी  जीत बताते हुुुए  कहा, ‘यह जनता की जीत है और इस फैसले ने हमारे रुख को सही ठहराया है। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार पश्चिम बंगाल सरकार को काम नहीं करने दे रही है। राज्य सरकार के कर्मचारियों एवं अधिकारियों को परेशान किया जा रहा है। केंद्र हमें पैसा नहीं दे रहा है। यहां तक कि बंगाली कलाकारों को भी परेशान किया जा रहा है।
अपने धरने पर ममता ने कहा, ‘मैं इस बारे में अपने नेताओं से बातचीत करूंगी। आज मुझसे मिलने चंद्रबाबू नायडू आ रहे हैं। मैं अन्य नेताओं के साथ भी परामर्श करूंगी। मैं नवीन पटनायक से भी बात करूंगी। मेरा धरना जारी रहेगा कि नहीं इस बारे में मैं आपको बाद में बताऊंगी।

अगर पूरे मामले को देखा जाए तो शीर्ष कोर्ट ने साफ शब्दों में कह दिया है कि पुलिस कॉमिशनर को सीबीआई के समक्ष पेश होना ही पड़ेगा, कोर्ट ने सिर्फ उनकी गिरफ्तारी पर रोक लगाई है ऐसे में बड़ा तमाशा लगाकर बैठी ममता बनर्जी के पास इस निर्णय को स्वागत करने के अलावा  कोई चारा नही है, इस पूरे मामले को देखकर एक कहावत से समझ जा सकता है कि ‘खिसयानी बिल्ली खम्बा नोंचे’

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close