Rajasthan

राज्यभर में 30वां सड़क सुरक्षा सप्ताह प्रारम्भ: सड़क दुर्घटना में मौतें राष्ट्रीय क्षfत- परिवहन मंत्री

घायलों को अस्पताल पहुंचाकर जान बचाने वालों को किया जाएगा सम्मानित

जयपुर, 4 फरवरी। परिवहन मंत्री श्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने कहा है कि प्रदेश में हर घंटे औसतन एक व्यक्ति की जान जाना परिवार ही नहीं, राष्ट्र की भी क्षति है। जो व्यक्ति सड़क दुर्घटना में घायलों की मदद के लिए आगे आएगा और इस पुण्य कार्य को प्राथमिकता देकर किसी घायल को अस्पताल पहुंचाकर उसकी जान बचाएगा, ऎसे व्यक्ति को सरकार सम्मानित करेगी।

श्री खाचरियावास ने यह घोषणा 30वें सड़क सुरक्षा सप्ताह के अन्तर्गत सोमवार को जवाहर सर्किल पर आयोजित राज्य स्तरीय कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में दिए गए अपने सम्बोधन में की। उन्होंने कहा जो भी सड़क सुरक्षा के क्षेत्र में अच्छा काम करेगा, जो स्कूल अपने बच्चों के मानस में सड़क सुरक्षा का भाव बिठाने के लिए विशेष प्रयास करेगा, ऎसे प्रयासों को प्रोत्साहन दिया जाएगा।

श्री खाचरियावास ने कहा कि सड़क दुर्घटनाएं एवं उनमें होने वाली मौतें ईश्वरीय इच्छा नहीं बल्कि मानवीय असावधानी के कारण होती हैं। जब सड़क सुरक्षा के लिए बने सरकारी नियमों-कानूनों के साथ जन मन का भी समर्थन होगा तो स्थिति बदल सकती है और राजस्थान सड़क दुर्घटनाआें में कमी लाकर देश के सामने उदाहरण प्रस्तुत कर सकता है। उन्होंने सोशल मीडिया के जरिए उन्हें या परिवहन राज्य मंत्री को सड़क सुरक्षा एवं परिवहन व्यवस्था के लिए उपयोगी सुझाव देने का आग्रह किया।

परिवहन राज्य मंत्री श्री अशोक चांदना ने अपने सम्बोधन में कहा कि पिछले 10 वर्ष में बदलाव तो आया है जब पहले कोई 2 से 4 प्रतिशत लोग ही हेलमेट लगाते थे, आज कहीं ज्यादा लोग हेलमेट लगाकर गाड़ी चलाते हुए दिखते हैं। उन्होंने सोशल मीडिया के जरिए सड़क सुरक्षा की एग्रेसिव कैम्पेनिंग करने और स्कूलों में छोटे बच्चों को पूरे परिवार के लिए सड़क सुरक्षा का ब्राण्ड एम्बेसेडर बनाने की आवश्यकता बताई।

जिला कलक्टर श्री जगरूप सिंह यादव ने कहा कि प्रदेश में हर वर्ष सड़क दुर्घटनाओं में साढे दस हजार मौतें असहज और अस्वीकार्य हैं। जिला स्तरीय सड़क सुरक्षा समिति में वे तात्कालिक और दीर्घकालिक उपायों से जिले में इसमें सुधार के प्रयास कर रहे हैं। उन्होने परिवहन व्यवस्था में सुधार के लिए विल्वर स्मिथ स्टडी के उपायोें को अपनाने का सुझाव दिया।

पुलिस कमिश्नर श्री आनन्द श्रीवास्तव ने कहा कि शहर में जिस तरह गाड़ियों की संख्या बढ रही है, सभी उपाय नाकाफी होते जा रहे हैं। इसके लिए कोई पॉलिसी बनानी होगी। इसके अलावा चाइना आज 10 साल में दुर्घटनाओं में होने वाली मौतों की संख्या घटाकर डेढ लाख से 80 हजार प्रतिवर्ष पर पहुंच गया है जबकि हम 90 हजार से डेढ लाख प्रतिवर्ष मौतों तक आगे निकल गए हैं। इस विषय की गंभीरता को इसी आंकडे़ से समझा जा सकता है।

समारोह में राज्य प्रशासनिक सेवा के अधिकारी श्री राजेश सिंह, डीसीपी टे्रफिक पूजा अवाना, आरएसआरटी के प्रबन्ध निदेशक श्री सांवरमल वर्मा, बगरू विधायक श्रीमती गंगादेवी, समाजसेवी श्री सीताराम अग्रवाल, श्री पुष्पेन्द्र भारद्वाज, बड़ी संख्या में सड़क सुरक्षा के क्षेत्र में काम कर रहे एनजीओ, हितधारक विभागांंे के अधिकारी कर्मचारी, स्काउट्स एण्ड गाइड्स के वालंटियर्स एंव जनसामान्य शामिल हुए। कार्यक्रम के प्रारम्भ में क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी श्रीमती कल्पना अग्रवाल ने सड़क सुरक्षा सप्ताह के दौरान आयोजित किए जाने वाले कार्यक्रमों की जानकारी दी। उपायुक्त सड़क सुरक्षा श्रीमती निधि सिंह ने सड़क सुरक्षा प्रकोष्ठ द्वारा किए जा रहे कार्यकलापों की जानकारी दी। धन्यवाद अपर परिवहन आयुक्त, प्रशासन श्रीमती मनीषा अरोड़ा ने दिया।

पोस्टर विमोचन
श्री खाचरियावास एवं श्री चांदना ने ऑल इंडिया मोटर ड्राइविंग स्कूल एवं एंजेल फोर सेफ्टी एनजीओ के सड़क सुरक्षा पोस्टर्स एवं इनाया फाउण्डेशन के कप का विमोचन किया। मुस्कान एनजीओ की ओर से एक शुंभकर का भी इस अवसर पर प्रदर्शन किया गया था। ऑल इंडिया मोटर ड्राइविंग स्कूल के प्रतिनिधि ‘बाबोसा’ की वेशभूषा में थे।
इस मौके पर रस रंग मंच संस्थान की ओर से नुक्कड़ नाटक यमराज की सीख प्रस्तुत किया गया। अलसना रंग थियेटर सोसायटी ने राक्षसों के मुखोटों के जरिए सड़क पर सावधानी की सीख दी।

अच्छी शुरूआत स्वयं से
परिवहन मंत्री ने कहा कि हर अच्छी शुरूआत स्वयं से ही होती है। वे स्वयं हमेशा से सीट बैल्ट एवं हेलमेट लगाकर ही वाहन चलाते हैं क्याेंकि उन्हें देखने वाले भी फिर ऎसा ही करते हैं। उन्होंने कहा कि कई चौराहों पर रेड लाइट नहीं होने से जाम की स्थिति रहती है। ऎसे चौराहों पर टे्रफिक व्यवस्था को संभालने के लिए सम्बन्धित थानों मे दो होमगार्ड अटेच होने चाहिए।

अधिकारियों को सलाह, साइकिल खरीदें, अच्छा लगेगा
परिवहन मंत्री ने इस मौके पर स्वंय साइकिल रैली में हिस्सा लेकर कहा कि सभी को कम से कम एक घंटा अपने देश और स्वयं के स्वास्थ्य के लिए जरूर देना चाहिए। उन्होंने परिवहन विभाग के अधिकारियों को सलाह दी कि वे एक साइकिल खरीद लें और उसका उपयोग शुरू करें। जिनका घर पास है वे कार्यालय आने मेें भी उसका उपयोग कर सकते हैं। इससे वे स्वयं की क्षमताओं के बारे में आकलन कर सकेंगे और उन्हें आनन्द की अनुभूति होगी। साइकिल रैली में परिवहन राज्य मंत्री ने भी हिस्सा लिया। श्री खाचरियावास एवं श्री चांदना ने उपस्थित लोगों को सड़क सुरक्षा शपथ भी दिलाई।

विंटेज कार एवं वाहन रैली
राज्य स्तरीय सड़क सुरक्षा समारोह में के मौके पर परिवहन मंत्री एवं परिवहन राज्य मंत्री ने एक वाहन रैली को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। रैली में महिला एवं पुरुष पुलिस कांस्टेबल्स ने मोटर साइकिल पर, मोटर ड्राइविंग स्कूल्स के प्रतिनिधियों ने ड्राइविंग कारों में एवं विंटेज कारों के वाहनस्वामी अपनी विंटेज कार में रैली में हिस्सा लिया। यह रैली जवाहर सर्किल से प्रारम्भ होकर रामनिवास बाग तक निकाली गई।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close